Swamiji says…1.0

क्षमा कर देना  एक इंसान की बहुत अच्छी आदत है | अगर कोई तुम्हारे साथ बुरा करे, उसे अपने दिल में मत रखो और उसके बारे में सोचते मत रहो | जितना तुम उसके बारे में सोचते हो, उतना ही अपने को नुकसान पहुँचाते हो क्योंकि जो हुआ है उसको सोचते रहने से उतना ही वह बात दिमाग में गढ़ जाती है और तुम्हे दुःख पहुंचाती है |

One thought on “Swamiji says…1.0

  1. deemag me ghun lag jata hai koi buri baat sochne se ya rakhne se.
    Swamiji ne bilkul sahi batya hai, kshma kar dena hi uchit hai.

    Like

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s